1950 की इस मोटरसाइकिल देख लोग रह गए भौचक्के

जिंदगी में हम हमेशा उन चीजों को ज्यादा मिस करते हैं जो बीत जाती हैं। पुराना समय हमेशा याद आता है सुनहरी यादें हमारे दिमाग से उतरने का नाम नहीं लेतीं। कुछ एक ऐसा ही दौर हाल ही में याद किया है देश की लोकप्रिय बाइक निर्माता कंपनी रॉयल एनफील्ड ने। अतीत के यादों से एक सुनहरी पेशकश के रूप में रॉयल एनफील्ड ने 1950 की याद लोगों को दिला दी है जब बुलेट की शुरुआत हुई थी। रॉयल एनफील्ड ने रेडिच को बाजार में उतारकर बुलेट प्रेमियों को रोमांचित कर दिया है। लाल रंग में नहाई इस मोटरसाइकिल की खूबसूरती को मैंने दो सप्ताह से अधिक समय तक जिया। आइए आपको बताते हैं कि इस रेडिच में क्या खास है और इसकी राइडिंग कितनी अलग है और इस मोटरसाइकिल पर बैठा देखकर लोग आपके प्रति क्या नजरिया रखते हैं। आइए जानते हैं।  रॉयल एनफील्‍ड के अनुसार इसका रंग और पेंट स्कीम 1950 के दशक से काफी मेल खाता है। इसे यूके के रेडिच में पहली बनाया गया था। यही वो जगह है जहां पर रॉयल एनफील्‍ड की मोटरसाइकिलों को बनाना शुरू किया गया था। इस क्लासिक 350 रेडिच सीरीज मोटरसाइकिल में रॉयल एनफील्ड रेडिच का वही मोनोग्राम प्रयोग किया गया है जिसे 1939 में 125 सीसी प्रोटोटाइप रॉयल बेबी में यूज किया गया था। यह एक टू स्ट्रोक मोटरसाइकिल थी। इसकी कीमत में क्लासिक 350 से कोई ज्यादा बदलाव नहीं हुआ है और कंपनी इसे 1 लाख 46 हजार रुपये एक्सशोरूम दिल्ली में बेच रही है, यह ऑन रोड कीमत है। 1950 में रॉयल एनफील्ड मोटरसाइकिलों को वर्ल्ड वार से पहले रेडिच में बनाया गया था जो कि यूके के बर्मिंघम के पास एक छोटी सी जगह है। वहां से निकलकर इस मोटरसाइकिल कंपनी ने भारत में सबसे ज्यादा सफलत हासिल की। नएपन के नाम पर इस मोटरसाइकिल में सिर्फ पेंट कलर स्कीम है व तीन रंग हैं जिसमें रेडिच उपलब्‍ध है। इसके साथ इसमें दिया गया रेडिच का लगभग 76 साल पुराना मोनोग्राम दिया गया है। इसमें एक सीट कंपनी दे रही है अगर आपको पिलियन राइडर को जगह देनी है इस मोटरसाइकिल पर तो अलग से एक सीट और लगवानी पड़ेगी। मैं जिस रेडिच को राइड कर रहा था वह लाल रंग में थी। यह एक शानदार मोटरसाइकिल है जिसे लोग मुड़कर देखना पसंद करते हैं। लेकिन इस रंग में अगर ये गंदी हो जाती है तो पुरानी लगने लगती है। इसलिए अगर आप रेडिच ले रहे हैं तो ध्यान रहे साथ में एक सूती कपड़ा भी रखें जिससे इसकी चमक पर चढ़ी धूल को इस पर बैठने से पहले हटा दें आप लोगों की नजरों में बसे रहेंगे। बुलेट प्रेमियों के लिए रॉयल  एनफील्‍ड का इससे अच्छा तोहफा नहीं हो सकता था। मैंने इस खास मोटरसाइकिल को लगभग 600 किलोमीटर तक चलाया। यह पूरी तरह से क्लासिक 350 है तो अगर आपने क्लासिक चला रखी है तो इसमें और उसमें आपको कोई फर्क नहीं मिलेगा। यहां तक कि इसका परफॉर्मेंस नंबर भी नहीं बदला है। इसमें रॉयल एनफील्‍ड ने क्लासिक वाला 346 सीसी का इंजन लगा है जो कि 19.8 बीएचपी की शक्ति 5250 आरपीएम पर तथा 28 एनएम का टॉर्क 4000 आरपीएम पर देती है। क्लासिक की तरह मोड़ों पर यह भी थोड़ा भारी महसूस होती है और ऐसा लगता है जैसे इसे मुड़ना पसंद नहीं है। लेकिन सीधे रास्ते पर यह 60 किमीप्रघं की गति पर सबसे अच्छी तरह से क्रूज होती है। अगर आप इसे 90 या 100 किमीप्रघं तक दौड़ाएंगे तो इसके इंजन का तनाव आपके पैरों को हिला देगा। लेकिन बाइक सबसे अच्छा माइलेज भी 60 किमीप्रघं की गति तक चलाने पर ही देती है। मुझे इस मोटरसाइकिल से लगभग 35 किमीप्रली का माइलेज मिला।

  • रंग                   ये मोटरसाइकिल सिर्फ तीन रंगों में उपलब्‍ध है
  • इंजन क्षमता        346 सीसी
  • शक्ति               19.8 बीएचपी@5250आरपीएम
  • टॉर्क                 28एनएम@4000 आरपीएम
  • गियरबॉक्स          5 स्पीड
  • व्हीलबेस             1370 मिलीमीटर
  • ग्राउंड क्लीयरेंस     135 मिलीमीटर
  • लंबाई                 2180 मिलीमीटर
  • चौड़ाई               790 मिलीमीटर
  • ऊंचाई               1080 मिलीमीटर
  • वजन                187 किलोग्राम
  • टैंक क्षमता          13.5 लीटर
  • कीमत                1.46 लाख रुपये ऑन रोड दिल्ली।

Related posts

Leave a Comment