कोई खतरनाक, तो कोई सुंदर, ये हैं 8 बेहद अजीबोगरीब जीव-जंतु

कुदरत से बड़ा कलाकार कोई नहीं। इसने ऐसे-ऐसे जीव-जंतु बनाए हैं, जिनकी तस्वीर देखकर भी कई बार यकीन करना मुश्किल हो जाता है कि ऐसे प्राणी वास्तव में इसी दुनिया में मिलते हैं। यहां हम आपके लिए लाए हैं ऐसे ही 8 बेहद अजीबोगरीब जीव-जंतुओं की तस्वीरें और उनसे जुड़ी जानकारियां। देखें यह चाइनीज कछुआ…
इस कछुए की लंबी गर्दनडाइवर्स के स्नोर्कल की तरह काम करती हैयह है अल्बिनो चाइनीज सॉफ्टशैल टर्टल। यह अपनी लंबी गर्दन और थूथन का इस्तेमाल गोताखोरों के स्नोर्कल की तरह करता है। इसके जरिए यह पानी के भीतर आराम करते हुए सांस लेता है।चीन में चाइनीज सॉफ्टशैल टर्टल लाखों की संख्या में पाले पाले जाते हैं। वहां इनका सूप बहुत पसंद किया जाता है और इनके बॉडी पार्ट्स पारंपरिक मेडिसिन में प्रयुक्त होते हैं।सॉफ्टशैल प्रजाति के कछुए भारत समेत दुनिया के कई हिस्सों में पाए जाते हैं, लेकिनअल्बिनो चाइनीज सॉफ्टशैल टर्टल बहुत रेयर होता है। इसे अल्बिनो नाम सफेद-गुलाबी रंग के कारण मिला है।
इस सांप के शरीर पर हैं पत्तियों जैसी संरचनाएंयह बुश वाइपर है, जो ट्रॉपिकल सब-सहारा अफ्रीका में पाया जाता है। ज्यादातर सांपों की स्किन जहां चिकनी होती है, वहीं इसकी स्किन पर पत्तियों जैसी संरचना होती है। इसके नाम में बुश (झाड़ी) इसीलिए जुड़ा है। यह जहरीला सांप मेंढक, छिपकली और यहां तक अन्य सांपों को भी खाता है।
बड़े काम का है यह ट्रांसपेरेंट समुद्री प्राणीयह है सैल्प। ये ट्रांसपेरेंट समुद्री प्राणी पानी में घुली कॉर्बन डाय ऑक्साइड का इस्तेमाल करते हैं। इस तरह यह कार्बन में कमी लाकर हमारे मददगार हैं। ये अकेले भी तैरते हैं और लाइन बनाकर ग्रुप में भी। सैल्प्स की तादाद सबसे ज्यादा अंटार्कटिका के निकट दक्षिणी सागर में पाई जाती है।
जेब्रा जैसी टांगों वाला यह जंतु है जिराफ का रिश्तेदारओकापी नामक यह जंतु मध्य अफ्रीका में पाया जाता है। देखने में यह जेब्रा और सूअर का मिश्रण लगता है, लेकिन वास्तव में यह जिराफ से नाता रखता है। स्किन के लिए खूब शिकार होने के चलते यह लुप्तप्राय की श्रेणी में पहुंच चुका है। यह घास-फूस ही खाता है।
मोरपंख की तरह रंग-बिरंगा है यह झींगायह है पीकॉक मेंटिस श्रिम्प। इंडो-पैसिफिक ओसीन में मिलने वाला यह प्राणी गुआम से ईस्ट अफ्रीका तक पाया जाता है। यह दिखने में खूबसूरत है, पर बहुत गुस्सैल भी है। एक्वेरियम में रखे जाने पर कई बार ठोकर मार-मार कर उसका कांच भी तोड़ देता है।
‘लिपस्टिक’ लगे होंठों वाली समुद्री मछलीयह है रेड लिप्ड बैटफिश। यह मछली प्रशांत महासागर में गैलापैगोस आईलैंड के आसपास पाई जाती है। यह अपने पेक्टोरल फिन्स का हाथों की तरह इस्तेमाल करते हुए खुद को समुद्र के तल पर टिका लेती है। इसके सिर में एक उभरी हुई संरचना होती है। यह चमककर कीड़े-मकोड़ों को आकर्षित करती है, जो इस मछली का भोजन होते हैं।
सबसे छोटी चिड़िया की तरह फूलों का रस पीता है यह कीड़ायह है हमिंगबर्ड हॉक मॉथ। जैसा कि नाम से ही जाहिर है, यह हमिंगबर्ड की तरह हवा में रहकर फूलों का रस चूसती है। मॉथ तितली की तरह दिखने वाले कीड़े हैं। इन्हें अमेरिका में हमिंगबर्ड मॉथ, तो यूरोप में बी मॉथ कहा जाता है। अन्य मॉथ्स के उलट, ये दिन में निकलते हैं और यहां तक कि बारिश के बीच भी उड़ सकते हैं।
सिर्फ मानसून में निकलता है यह थुलथुल मेंढकयह है इंडियन पर्पल फ्रॉग। यह भारत के पश्चिमी घाट इलाके में पाया जाता है। इसे ऑफिशियली 2003 में खोजा गया था। इस भारी-भरकम मेंढक की स्किन हल्के जामुनी रंग की होती है। यह ज्यादातर समय जमीन के भीतर रहता है और सिर्फ मानसून में ही प्रजनन के लिए निकलता है। यह मेंढक दीमक खाता है।

Related posts

Leave a Comment